Sad heart broken shayari

चारों तरफ हैं खुशियों का मंजर
फिर भी एक कसक सी है दिल में
तुम बिन…!😢

चारों तरफ सजी हैं महफिलें, लगे हैं मेले
फिर भी तन्हाँ है ये दिल
तुम बिन…!😢

आज है पूरे चाँद की सुहानी रात
चाँद चांदनी के संग उफान पर
मुझे फिर भी लगता हैं
अमावस्या का अन्धकार
तुम बिन…!!😢💔

Advertisements