250+ Ashq Shayari | Aansoo Shayari | आंसू शायरी | अश्क़ शायरी | in Hindi & English

250+ Ashq Shayari | Aansoo Shayari | आंसू शायरी | अश्क़ शायरी | in Hindi & English – the best collection of Ashq Shayari, Aansu Shayari Hindi Mai, Aansu Shayari in Hindi and English. 

Aansoo shayari - दो लफ़्ज़ों को

Jabt-e-Gham Koyi Aasaan Kaam Nahi Faraaz,
Aag Hote Hain Woh Aansu Jo Piye Jaate Hain.

जब्त-ए-गम कोई आसान काम नहीं फराज,
आग होते है वो आँसू जो पिए जाते हैं।

Aansoo shayari - डूब जाओगे

Mere Dil Mein Na Aao Varna Doob Jaaoge Tum,
Gham Ke Aansoo Ka Samandar Hai Mere Andar.

मेरे दिल में न आओ वर्ना डूब जाओगे,
गम के आँसू का समंदर है मेरे अन्दर।

Aansoo shayari - फसाने होंगे

Socha Hi Nahi Tha Zindagi Mein Aise Bhi Fasaane Honge,
Rona Bhi Jaruri Hoga Aansoo Bhi Chhupane Honge.

सोचा ही नहीं था जिंदगी में ऐसे भी फसाने होंगे,
रोना भी जरुरी होगा आँसू भी छुपाने होंगे।

Aansoo shayari - आँखें मेरी

Har Baat Par Nam Ho Jati Hain Aankhein Meri Aksar,
Jahan Bhar Ke Ashq Khuda Meri Palkon Mein Rakh Bhula.

हर बात पर नम हो जाती हैं आँखें मेरी अक्सर,
जहाँ भर के अश्क खुदा मेरी पलकों में रख भूला।

Aansoo shayari - रूठ जाती है

Nikal Jaate Hain Tab Aansoo Jab Unki Yaad Aati Hai,
Zamana Muskurata Hai Mohabbat Roothh Jati Hai.

निकल जाते हैं तब आँसू जब उनकी याद आती है,
जमाना मुस्कुराता है मोहब्बत रूठ जाती है।

Aansoo shayari - तुम्हारी याद

Tapak Padte Hain Aansoo Jab Tumhari Yaad Aati Hai,
Yeh Woh Barsaat Hai Jis Ka Koi Mausam Nahi Hota.

टपक पड़ते हैं आँसू जब तुम्हारी याद आती है,
ये वो बरसात है जिसका कोई मौसम नहीं होता।

Aansoo shayari - तेरे संग

Saath Bitayi Tere Sang Woh
Shaam Suhani Zinda Hai,
Honthh Bhale Hi Sookhe Ho
Par Aankh Mein Paani Zinda Hai.

साथ बिताई तेरे संग वो
शाम सुहानी जिंदा है,
होंठ भले ही सूखे हों
पर आँख मे पानी जिंदा है।

Aansoo shayari - तेरे ना होने से

Tere Na Hone Se Zindagi Mein
Bas Itni Si Kami Rehti Hai,
Main Lakh Muskuraaun Phir Bhi
Inn Aankhon Mein Nami Rehti Hai.

तेरे ना होने से ज़िंदगी में
बस इतनी सी कमी रहती है,
मैं लाख मुस्कुराऊँ फिर भी
इन आँखों में नमी रहती है।

Aansoo shayari - ताल्लुक़

Jinke Pyar Bichhade Hain
Unka Sukoon Se Kya Talluq,
Unki Aankhon Mein Neend Nahi
Sirf Aansoo Aaya Karte Hain.

जिनके प्यार बिछड़े है
उनका सुकून से क्या ताल्लुक़,
उनकी आँखों में नींद नहीं
सिर्फ आँसू आया करते है।

Aansoo shayari - कभी बरसात

Kabhi Barsaat Ka Mazaa Chaho,
Toh Inn Aankhon Mein Aa Baitho
Woh Barson Mein Kabhi Barsate Hain
Yeh Barson Se Barasti Hain.

कभी बरसात का मज़ा चाहो,
तो इन आँखों में आ बैठो,
वो बरसों में कभी बरसती है,
ये बरसों से बरसती हैं।

Aansoo shayari - कभी बरसात

Palkon Se Paani Gira Hai Toh Girne Do,
Seen Mein Koi Puraani Tamanna Pighal Rahi Hogi.

पलकों से पानी गिरा है तो उसे गिरने दो,
सीने में कोई पुरानी तमन्ना पिघल रही होगी।

Aansoo shayari - प्यारे आँसू

Inko Na Kabhi Aankh Se Girne Deta Hun,
Unko Lagte Hain Meri Aankh Mein Pyare Aansoo.

इनको न कभी आँख से गिरने देता हूँ,
उनको लगते हैं मेरी आँख में प्यारे आँसू।

चैट पर लड़की को कैसे इम्प्रेस करें!

Ashq shayari - क्या दुख है

Kya Dukh Hai Samandar Ko Bata Bhi Nahi Sakta,
Aansoo Ki Tarah Aankh Tak Aa Bhi Nahi Sakta.

क्या दुख है समुंदर को बता भी नहीं सकता,
आँसू की तरह आँख तक आ भी नहीं सकता।

Ashq shayari - आँसूओ पे

Na Jaane Aakhir Inn Aansuon Par Kya Gujri,
Jo Dil Se Aankh Tak Aaye Magar Beh Na Sake.

ना जाने आखिर इन आँसूओ पे क्या गुजरी,
जो दिल से आँख तक आये मगर बह ना सके।

Aansoo shayari - आरजू

Kya Likhu Dil Ki Haqeeqat Aarzoo Behosh Hai,
Khat Pe Aansoo Beh Rahe Hain Aur Kalam Khamosh Hai.

क्या लिखूं दिल की हकीकत आरजू बेहोश है,
ख़त पे आँसू बह रहे हैं और कलम खामोश है।

Aansoo shayari - जो दर्द को

Hasne Ki Justju Mein Dabaaya Jo Dard Ko,
Aansoo Humari Aankh Mein Patthar Ke Ho Gaye.

हंसने की जुस्तजू में दबाया जो दर्द को,
आँसू हमारी आँख में पत्थर के हो गए।

Aansoo shayari - मायूस दिल

Ek Tamanna Jagi Hai Iss Mayoos Dil Mein Aaj,
Aansoo Ke Saath Har Ek Khwahish Bhi Bah Jaaye.

एक तमन्ना जगी है इस मायूस दिल में आज,
आँसू के साथ हर एक ख्वाब भी बह जाए।

Aansoo shayari - सुओ का रंग

Kyun Badla Hua Sa Hai Aaj Mere Aansuon Ka Rang,
Kya Dil Ke Zakhm Ka Koi Taanka Udhad Gaya.

क्यूँ बदला हुआ है आज मेरे आँसुओ का रंग,
क्या दिल के ज़ख्म का कोई टाँका उधड़ गया।

Aansoo shayari - भीगे हुए मौसम

Aa Dekh Meri Aankhon Ke Yeh Bhige Huye Mausam,
Yeh Kisne Keh Diya Ke Tumhein Bhool Gaye Hum.

आ देख मेरी आँखों के ये भीगे हुए मौसम,
ये किसने कह दिया कि तुम्हें भूल गये हम।

Ameer Kaise bane!!

Aansoo shayari - ज़मीं के आँसू

Ghaas Mein Jazb Huye Honge Zamin Ke Aansoo,
Paanv Rakhta Hun Toh Halki Si Nami Lagti Hai.

घास में जज़्ब हुए होंगे ज़मीं के आँसू,
पाँव रखता हूँ तो हल्की सी नमी लगती है।

Aansoo shayari - बहुत बरसते हैं

Mera Shahar To Baarishon Ka Ghar Thehra
Yahan Ki Aankh Ho Ya Dil Bahut Baraste Hain.

मेरा शहर तो बारिशों का घर ठहरा,
यहाँ की आँख हों या दिल बहुत बरसते हैं।

Aansoo shayari - तुम्हारे आँसू।

Dekh Sakta Hai Bhala Kaun Yeh Pyare Aansoo,
Meri Ankhoon Mein Na Aa Jaye Tumhare Aansoo.

देख सकता है भला कौन ये प्यारे आँसू,
मेरी आँखों में न आ जाएँ तुम्हारे आँसू।

Aansoo shayari - लचकती है

Aansoo Kabhi Palkon Par Bahut Der Nahi Rukte,
Ud Jate Hain Panchhi Jab Shaakh Lachakti Hai.

आँसू कभी पलकों पर बहुत देर नहीं रुकते,
उड़ जाते हैं पंछी जब शाख़ लचकती है।

Ashq Shayari - वो अश्क

Woh Ashq Ban Ke Meri Chashm-e-Tar Mein Rahta Hai.
Ajeeb Shakhs Hai Paani Ke Ghar Mein Rahta Hai.

वो अश्क बन के मेरी चश्म-ए-तर में रहता है,
अजीब शख़्स है पानी के घर में रहता है।

आंसू शायरी - गहरा बहुत है

Do Chaar Aansoo Hi Aate Hain Palkon Ke Kinare Pe,
Warna Aankhon Ka Samandar Gehra Bahut Hain.

दो चार आँसू ही आते हैं पलकों के किनारे पे,
वर्ना आँखों का समंदर गहरा बहुत है।

Aansoo shayari - इलाही

Aankhon Mein Kaun Aake ilahi Nikal Gaya,
Kis Ki Talaash Mein Mere Ashk Rawaan Chale.

आँखों में कौन आ के इलाही निकल गया,
किस की तलाश में मेरे अश्क़ रवां चले।

Aansoo shayari - आँसू मेरी आँखों में

Kam Nahi Hain Aansu Meri Ankhon Mein Magar,
Rota Nahi Ke Unme Uski Tasveer Dikhti Hai.

कम नहीं हैं आँसू मेरी आँखों में मगर,
रोता नहीं कि उनमें उसकी तस्वीर दिखती है।

Aansoo shayari - आँसू की तरह

Waapsi Ka Safar Ab Mumkin Na Hoga,
Hum Toh Nikal Chuke Hain Aankh Se Aansu Ki Tarah

वापसी का सफ़र अब मुमकिन न होगा।
हम तो निकल चुके हैं आँख से आँसू की तरह।

Aansoo shayari - छीन ली

Aansu Bhi Meri Aankh Ke Ab Khushk Ho Gaye,
Tu Ne Mere Khuloos Ki Keemat Bhi Chheen Li.

आँसू भी मेरी आँख के अब खुश्क हो गए,
तू ने मेरे खुलूस की कीमत भी छीन ली।

Aansoo shayari - वो मैं था

Teri Muskurahat Tere Kah-Kahe Kisi Aur Ke The,
Jo Teri Aankho Se Tha Tapka, Wo Main Tha.

तेरी मुस्कराहट तेरे कहकहे किसी और के थे,
जो तेरी आँखों से था टपका वो मैं था।

Read - Eyes Shayari

Aansoo shayari - आँखें छलक

Aaya Hi Tha Khyal Ke Aankhein Chhalak Padi,
Aansu Kisi Ki Yaad Ke Kitne Kareeb Hain.

आया ही था खयाल कि आँखें छलक पड़ीं,
आँसू किसी की याद के कितने करीब हैं।

Aansoo shayari - आँसू निकल पड़े

Itna Toh Zindagi Ne Kisi Ki Khalal Pade,
Hansne Se Ho Sukoon Na Rone Se Kal Pade,
Muddat Ke Baad Usne Jo Kee Pyar Ki Nigah,
Jee Toh Khush Ho Gaya Magar Aansoo Nikal Pade.

इतना तो ज़िंदगी में किसी की खलल पड़े,
हँसने से हो सुकून ना रोने से कल पड़े,
मुद्दत के बाद उसने जो की प्यार की निगाह,
जी खुश तो हो गया मगर आँसू निकल पड़े।

Aansoo shayari - तकदीर

Aankho Mein Aansuo Ki Lakeer Ban Gayi,
Jaisi Chaahi Thi Waisi Hi Takdeer Ban Gayi,
Humne Toh Sirf Ret Mein Ungli Chalayi Thi,
Gaur Se Dekha Toh Aapki Tasbir Ban Gayi.

आँखों में आंसुओं की लकीर बन गयी,
जैसी चाही थी वैसी ही तकदीर बन गयी,
हमने तो सिर्फ रेत में ऊँगली चलाई थी,
गौर से देखा तो आपकी तस्वीर बन गयी।

Aansoo shayari - आराम न आया

Bhar Aayi Meri Aankhein Jab Uska Naam Aaya,
Ishq Nakaam Sahi Phir Bhi Bahut Kaam Aaya,
Humne Mohabbat Mein Aisi Bhi Gujaari Kayi Raatein,
Jab Tak Aansu Na Bahe Dil Ko Aaram Na Aaya.

भर आई मेरी आँखे जब उसका नाम आया,
इश्क़ नाकाम सही फिर भी बहुत काम आया,
हमने मोहब्बत में ऐसी भी गुज़ारी कई रातें,
जब तक आँसू ना बहे दिल को आराम न आया।

Aansoo shayari - उम्मीद-ए-उल्फत

Dekh Unko Chashm-e-Nam Main
Khush Hua Hoon Aaj Yoon,
Hai Abhi Ummeed-e-Ulfat
Kayam Apne Darmiyaan.

देख उनको चश्म-ए-नम
मैं खुश हुआ हूँ आज यूँ
है अभी उम्मीद-ए-उल्फत
कायम अपने दरमियां ।

Aansoo shayari - अक्सर

Saleeka Ho Agar Bheegi Hui
Aankhon Ko Parhne Ka,
Toh Fir Bahte Hue Aansoo Bhi
Aksar Baat Karte Hain.

सलीका हो अगर भीगी हुई
आँखों को पढ़ने का,
तो फिर बहते हुए आँसू भी
अक्सर बात करते हैं।

Aansoo shayari - लिखा हुआ

Jise Le Gayi Hai Abhi Hawa,
Wo Warq Tha Dil Ki Kitaab Ka,
Kahin Aansuon Se Mita Hua,
Kahin Aansuon Se Likha Hua.

जिसे ले गई है अभी हवा
वो वरक़ था दिल की किताब का,
कहीं आँसुओं से मिटा हुआ
कहीं आँसुओं से लिखा हुआ।

Aansoo shayari - आंसू थे मेरे

Woh Nadiyan Nahi Aansu The Mere,
Jis Par Woh Kashti Chalaate Rahe,
Manzil Mile Unhein Yeh Chahat Thi Meri,
Isliye Hum Aansu Bahate Rahe.

वो नदियाँ नहीं आंसू थे मेरे,
जिस पर वो कश्ती चलाते रहे,
मंजिल मिले उन्हें यह चाहत थी मेरी,
इसलिए हम आंसू बहाते रहे।

Aansoo shayari - छुपाले कोई

Aagosh-e-Sitam Mein Chhupa Le Koi,
Tanha Hun Tadapne Se Bacha Le Koi,
Sukhi Hai Badi Der Se Palkon Ki Jubaan,
Bas Aaj Toh Jee Bhar Ke Rula De Koi.

आगोश-ए-सितम में छुपाले कोई,
तन्हा हूँ तड़पने से बचा ले कोई,
सूखी है बड़ी देर से पलकों की जुबां,
बस आज तो जी भर के रुला दे कोई।

Aansoo shayari - रोना नहीं आता

Humein Aansuon Se Zakhmon Ko Dhona Nahi Aata,
Milti Hai Khushi Toh Use Khona Nahi Aata,
Sah Lete Hain Har Gham Ko Jab HansKar Hum,
Toh Log Kehte Hain Ke Humein Rona Nahi Aata.

हमें आँसुओं से ज़ख्मों को dhona nhi aata
मिलती है ख़ुशी तो उसे खोना नहीं आता,
सह लेते हैं हर ग़म को जब हँसकर हम,
तो लोग कहते है कि हमें रोना नहीं आता।

Aansoo shayari - घड़ी दो घड़ी

Kya Aaye Tum Jo Aaye Ghadi Do Ghadi Ke Baad,
Seene Mein Hogi Saans Atki Do Ghadi Ke Baad,
Kya Roka Apne Girye Ko Hum Ne Ke Lag Gayi,
Fir Wahi Aansuon Ki Jhadi Do Ghadi Ke Baad.

क्या आये तुम जो आये घड़ी दो घड़ी के बाद,
सीने में होगी सांस अड़ी दो घड़ी के बाद,
क्या रोका अपने गिर्ये को हम ने कि लग गयी,
फिर वही आँसुओं की झड़ी दो घड़ी के बाद।

Aansoo shayari - रुला कर

Mujko Rula Kar Dil Uska Bi Roya Toh Hoga,
Uski Aankho Mein Bhi Aansu Aaya Toh Hoga,
Agar Na Kiya Kuchh Haasil Hamne Pyar Mein,
Kuchh Na Kuchh Usne Bi Khoya Toh Hoga.

मुझको रुला कर दिल उसका रोया तो होगा,
उसकी आँखों में भी आँसू आया तो होगा,
अगर न किया कुछ भी हासिल हमने प्यार में,
कुछ न कुछ उसने भी खोया तो होगा।

Aansoo shayari - सदियों बाद

Sadiyon Baad Uss Ajnabi Se Mulakaat Huyi,
Aankhon Hi Aankho Mein Chahat Ki Har Baat Huyi,
Jaate Huye Usne Dekha Mujhe Chahat Bhari Najron Se,
Meri Bhi Aankhon Se Aansuon Ki Barsaat Huyi.

सदियों बाद उस अजनबी से मुलाक़ात हुई,
आँखों ही आँखों में चाहत की हर बात हुई,
जाते हुए उसने देखा मुझे चाहत भरी निगाहों से,
मेरी भी आँखों से आंसुओं की बरसात हुई।

Aansoo shayari - मुमकिन होगा

Wapasi Ka Safar Ab Na Mumkin Hoga,
Hum Nikal Chuke Hain Aankh Se Aansu Ki Tarah.

वापसी का सफ़र अब न मुमकिन होगा,
हम निकल चुके हैं आँख से आँसू की तरह।

Aansoo shayari - अक्स आँखों में

Uska Aks Aankhon Mein Iss Kadar Basa Hai,
Barson Bahe Aansu Magar Tasbeer Na Dhuli.

उसका अक्स आँखों में इस कदर बसा है,
बरसों आँसू बहे मगर तसवीर न धुली।

Aansoo shayari - ज़रूरी तो नहीं

Rone Wale Toh Dil Mein Hi Ro Lete Hain,
Aankho Mein Aansu Aayein Yeh Zaruri Toh Nahi.

रोने वाले तो दिल में ही रो लेते हैं,
आँखों में आँसू आयें ये ज़रूरी तो नहीं।

Aansoo shayari - मेरे दर्द की

Ittefaq Samjho Ya Mere Dard Ki Hakeeqat,
Aankh Jab Bhi Nam Huyi Wajah Tum Hi Nikle.

इत्तिफ़ाक़ समझो या मेरे दर्द की हकीक़त,
आँख जब भी नम हुई वजह तुम ही निकले।

Aansoo shayari - दामन पे

Palkon Ke Bandh Torh Ke Daaman Pe Gir Gaya,
Ek Ashk Mere Zabt Ki Tauheen Kar Gaya.

पलकों के बंध तोड़ के दामन पे गिर गया,
एक अश्क मेरे ज़ब्त की तौहीन कर गया।

Aansoo shayari - डूब जाओगे

Mere Dil Mein Na Aao Varna Doob Jaoge,
Gam Ke Aansoo Ke Siwa Kuchh Bhi Nahi Andar,
Agar Ek Baar Risne Laga Aankhon Se Paani,
Toh Kam Pad Jayega Bharne Ke Liye Samandar.

मेरे दिल में न आओ वरना डूब जाओगे,
ग़म-ए-अश्कों के सिवा कुछ भी नहीं अंदर,
अगर एक बार रिसने लगा जो पानी,
तो कम पड़ जायेगा भरने के लिए समंदर।

Aansoo shayari - एक मुस्कुराहट

Har Ek Muskurahat Muskan Nahi Hoti,
Nafrat Ho Ya Mohabbat Aasaan Nahi Hoti,
Aansu Khushi Ke Gham Ke Hote Hain Ek Jaise,
Inn Aansuon Se Koi Pahchan Nahi Hoti.

हर एक मुस्कुराहट मुस्कान नहीं होती,
नफरत हो या मोहब्बत आसान नहीं होती,
आँसू गम के और ख़ुशी के होते हैं एक जैसे,
इन आँसुओं की कोई पहचान नहीं होती।

Aansoo shayari - ज़रूरी तो नहीं

Pyar Kar Ke Koyi Jataye Yeh Jaruri Toh Nahi,
Yaad Kar Ke Koyi Bataye Yeh Jaruri Toh Nahi,
Rone Wale Toh Dil Mein Hi Ro Lete Hain Apne,
Kabhi Aankh Mein Aansu Aaye Yeh Jaruri To Nahi.

प्यार कर के कोई जताए ये ज़रूरी तो नहीं,
याद कर के कोई बताये ये ज़रूरी तो नहीं,
रोने वाले तो दिल में ही रो लेते हैं अपने,
कभी आँख में आसूं आये ये ज़रूरी तो नहीं।

आंसू शायरी - सावन

Mujhe Maloom Hai Tumne Bahut Barsaat Dekhi Hai,
Magar Meri Inhi Aankhon Se Sawan Haar Jaata Hai.

मुझे मालूम है तुमने बहुत बरसात देखी है,
मगर मेरी इन्हीं आँखों से सावन हार जाता है।

Aansoo shayari - भूल चुका हूँ

Lagta Hai Main Bhool Chuka Hu Muskarane Ka Hunar,
Koshish Jab Bhi Karta Hu, Aashu Aa Hi Jate Hain.

लगता है मैं भूल चुका हूँ मुस्कुराने का हुनर
कोशिश जब भी करता हूँ आँसू निकल आते हैं।

Aansoo shayari - मुक़र्रर

Taiyar Rahte Hain Aansoo Meri Palkon Pe Aksar,
Teri Yaadon Ka Koi Waqt Muqarrar Jo Nahi Hai.

तैयार रहते हैं आँसू मेरी पलकों पे अक्सर,
तेरी यादों का कोई वक़्त मुक़र्रर जो नहीं है।

Aansoo shayari - बीती हुयी बातें

Ashq Hi Mere Din Hain Ashq Hi Meri Raatein,
Ashqon Mein Hi Ghuli Hain Wo Beeti Huyi Baatein.

अश्क़ ही मेरे दिन हैं अश्क़ ही मेरी रातें,
अश्कों में ही घुली हैं वो बीती हुयी बातें।

Aansoo shayari - धुल न पायेंगे

Kisi Ko Batane Se Mere Ashq Ruk Na Payenge,
Mit Jayegi Zindagi Magar Gham Dhul Na Payenge.

किसी को बताने से मेरे अश्क़ रुक ना पायेंगे,
मिट जायेगी जिंदगी मगर ग़म धुल न पायेंगे।

Aansoo shayari - ज़ख्मों पे

Ek Aah Pe Meri Girte The Jinke Hajaron Aansoo,
Aaj Wo Bhi Mere Zakhmon Pe Muskurane Lage.

एक आह पे मेरी गिरते थे जिनके हजारो आँसू,
आज वो भी मेरे ज़ख्मों पे मुस्कुराने लगे।

Aansoo shayari - भर आएगी

Jab Bhi Gujre Hue Lamhon Ki Yaad Aayegi,
Honthh See Lunga Magar Aankh Toh Bhar Aayegi.

जब भी गुजरे हुए लम्हों की याद आएगी,
होंठ सी लूँगा मगर आँख तो भर आएगी।

Aansoo shayari - आँसू निकले

Raah Takte Huye Jab Thak Gayi Meri Aankhein,
Phir Tujhe Dhoondne Meri Aankh Ke Aansoo Nikle.

राह तकते हुए जब थक गई मेरी आँखें,
फिर तुझे ढूँढने मेरी आँख के आँसू निकले।

आंसू शायरी - रो लेते

Kaash Aasuon Ke Saath Yaadein Bhi Beh Jati,
Toh Ek Din Tasalli Se Baith Kar Ro Lete.

काश आँसुओ के साथ यादें भी बह जाती,
तो एक दिन तसल्ली से बैठ कर रो लेते।

Aansoo shayari - निकल पड़े

Jis Tarah Hans Raha Hun Main Pee Pee Ke Garm Ashq,
Yun Dusra Hanse Toh Kaleja Nikal Pade.

जिस तरह हँस रहा हूँ मैं पी पी के गर्म अश्क.
यूँ दूसरा हँसे तो कलेजा निकल पड़े।

Aansoo shayari - तेरी ये कमी

Meri Aabkhon Mein Aansu Nahi Bas Kuchh Nami Hai,
Wajah Tu Nahi Bas Teri Ye Kami Hai.

मेरी आँखों में आँसू नहीं बस कुछ नमी है,
वजह तू नहीं बस तेरी ये कमी है।

Aansoo shayari - आबरू

Sadaf Ki Kya Hakeeqat Hai Agar Usmein Na Ho Gauhar,
Na Kyun Kar Aabru Ho Aankh Ki Maukoof Aansu Par.

सदफ की क्या हकीकत है, अगर उसमें न हो गौहर,
न क्यों कर आबरू हो आंख की मौकूफ आंसू पर।

आंसू शायरी - नज़र नहीं आते​

Tumne Kaha Tha Aankh Bhar Ke Dekh Liya Karo Mujhe,
Ab Aankh Bhar Aati Hai Par Tum Najar Nahi Aate.

तुमने कहा था, आँख भर के देख लिया करो मुझे,
अब आँख भर आती है पर तुम नज़र नहीं आते​।

Aansoo shayari - दास्ताँ

Humein Kya Pata Tha Yeh Mausam Yun Ro Padega,
Humne Toh Aasmaan Ko Bas Apni Dastaan Sunayi Hai.

हमें क्या पता था ये मौसम यूँ रो पड़ेगा,
हमने तो आसमां को बस अपनी दास्ताँ सुनाई है।

आंसू शायरी - छलक जाए तो

Kaun Kehta Hai Ke Aashuon Mein Wajan Hai Hota,
Ek Bhi Chhalak Jata Hai Toh Man Halka Ho Jata Hai.

कौन कहता है कि आंसुओं में वज़न नहीं होता,
एक भी छलक जाए तो मन हल्का हो जाता है।

आंसू शायरी - मेरा चेहरा है

Kya Kahoon Deeda-e-Tar Yeh Toh Mera Chehra Hai,
Sang Kat Jaate Hain Baarish Ki Jahan Dhaar Gire.

क्या कहूँ दीदा-ए-तर ये तो मेरा चेहरा है,
संग कट जाते हैं बारिश की जहाँ धार गिरे।

Aansoo shayari - दो लफ़्ज़ों को

Khamosh Rahne Do Lafzon Ko,
Aankhon Ko Bayaan Karne Do Hakiqat,
Ashq Jab Niklenge Jheel Ke,
Muqaddar Se Jal Jayenge Afsane.

खामोश रहने दो लफ़्ज़ों को,
आँखों को बयाँ करने दो हकीकत,
अश्क जब निकलेंगे झील के,
मुक़द्दर से जल जायेंगे अफसाने।

Aansoo shayari - जो आँसू

Jo Aansoo Dil Mein Girte Hain
Woh Aankhon Mein Nahi Hote,
Bahut Se Harf Aise Hote Hain
Jo Lafzon Mein Nahi Rahte,
Kitaabon Mein Likhe Jate Hain
Duniya Bhar Ke Afsaane,
Magar Jin Mein Hakiqat Ho
Kitaabon Mein Nahi Rahte.

जो आँसू दिल में गिरते हैं
वो आँखों में नहीं होते,
बहुत से हर्फ़ ऐसे होते हैं
जो लफ़्ज़ों में नहीं रहते,
किताबों में लिखे जाते हैं
दुनिया भर के अफ़साने,
मगर जिन में हकीकत हो
किताबों में नहीं रहते।

Ashq shayari - मज़बूरी में

Majboori Mein Jab Koi Juda Hota Hai,
Zaruri Nahi Ke Woh Bewafa Hota Hai,
De Kar Woh Aapki Aankho Mein Aansu,
Akele Mein Aapse Bhi Zyada Rota Hai.

मज़बूरी में जब कोई जुदा होता है,
ज़रूरी नहीं कि वो बेवफ़ा होता है,
देकर वो आपकी आँखों में आँसू,
अकेले में आपसे ज्यादा रोता है।

Aansoo shayari - दरो-दीवार

Kamjor Huye Ashqon Se Ghar Ke Dar-o-Deewar,
Rone Ke Liye Lenge Kiraaye Ka Makaan Aur.

कमजोर हुए अश्कों से घर के दरो-दीवार,
रोने के लिये लेंगे किराए का मकाँ और।

Ashq shayari - बार-हा गुजरा

Ye Saaneha Bhi Mohabbat Mein Baar-Ha Gujra,
Ke Usne Haal Bhi Puchha Toh Aankh Bhar Aayi.

ये सानेहा भी मोहब्बत में बार-हा गुजरा,
कि उस ने हाल भी पूछा तो आँख भर आई।

Aansoo shayari - दस्तूर

Bahna Kuchh Apni Chashm Ma Dastoor Ho Gaya,
Dee Thi Khuda Ne Aankh Par Nasoor Ho Gaya.

बहना कुछ अपनी चश्म का दस्तूर हो गया,
दी थी खुदा ने आँख पर नासूर हो गया।

Aansoo shayari - भरम बहार का

Piro Diye Mere Aansoo Hawa Ne Shaakhon Mein,
Bharam Bahaar Ka Waaki Raha Aankhon Mein.

पिरो दिये मेरे आँसू हवा ने शाखों में,
भरम बहार का वाकी रहा आँखों में।

Aansoo shayari - तमाम उम्र

Wahan Se Paani Ki Ek Boond Bhi Na Nikli,
Tamaam Umr Jin Aankhon Ko Jheel Likhte Rahe.

वहाँ से पानी की एक बूँद भी न निकली,
तमाम उम्र जिन आँखों को झील लिखते रहे।

Aansoo shayari - रोज रोता हूँ

Jaahir Nahi Karta Par Main Roj Rota Hoon,
Shahar Ka Dariya Mere Ghar Se Nikalta.

जाहिर नहीं करता पर मैं रोज रोता हूँ,
शहर का दरिया मेरे घर से निकलता है।

Aansoo shayari - अल्लाह बचाये

Uss Ashq Ki Taseer Se Allah Bachaaye,
Jo Ashq Aankhon Mein Rahe Aur Na Barse.

उस अश्क की तासीर से अल्लाह बचाये,
जो अश्क आँखों में रहे और न बरसे।

Aansoo shayari - जो आँसू

Jo Aansoo Aankh Se Achanak Nikal Padein,
Wajah Unki Jubaan Se Bayaan Nahin Hoti.

जो आँसू आँख से अचानक निकल पड़ें,
वजह उनकी ज़बान से बयां नहीं होती।

Aansoo shayari - एक शख्स जो

Dega Agar Dard Toh Khud Bhi Doobega,
Woh Ek Shakhs Jo Ankhon Mein Rahta Hai.

देगा अगर दर्द तो खुद भी डूबेगा,
वो एक शख्स जो आँखों में रहता है।

Aansoo shayari - अजीब कहर

Ajeeb Qahar Pada Ab Ke Saal Ashqon Ka,
Ke Aankh Tar Na Hui Khoon Se Nahakar Bhi.

अजीब कहर पड़ा अब के साल अश्कों का,
कि आँख तर ना हुई खूं में नहा कर भी।

Ashq shayari - तू इश्क की

Tu Ishq Ki Doosari Nishani De De Mujhko,
Aansoo Toh Roj Gir Ke Sookh Jate Hain.

तू इश्क की दूसरी निशानी दे दे मुझको,
आँसू तो रोज गिर कर सूख जाते हैं।

Aansoo shayari - आज अश्क

Aaj Ashq Se Aankhon Mein Kyun Aaye Hue,
Gujar Gaya Hai Zaman Tujhe Bhulaye Hue.

आज अश्क से आँखों में क्यों हैं आये हुए,
गुजर गया है ज़माना तुझे भुलाये हुए।

आंसू शायरी- पनाहों में मेरी

Chain Milta Tha Jise Aake Panaahon Mein Meri,
Aaj Deta Hai Wahi Ashq Nigaahon Mein Meri.

चैन मिलता था जिसे आ के पनाहों में मेरी,
आज देता है वही अश्क निगाहों में मेरी।

आंसू शायरी - बारिशें

Baarishein Ho Hi Jaati Hain Shahar Mein,
Kabhi Badalon Se… Toh Kabhi Aankho Se.

बारिशें हो ही जाती हैं शहर में,
कभी बादलों से तो कभी आँखों से।

Ashq shayari - तेरे वगैर

Likhna Toh Tha Ki Khush Hoon Tere Bagair Bhi,
Aansoo Magar Kalam Se Pehle Hi Gir Gaye.

लिखना तो था कि खुश हूँ तेरे वगैर भी,
आँसू मगर कलम से पहले ही गिर पड़े।

Ashq shayari - उदासी का सबब

Usne Bas Yoon Hi Udaasi Ka Sabab Puchha Tha,
Meri Aankhon Mein Simat Aaye Samandar Saare.

उसने बस यूँ ही उदासी का सबब पूछा था,
मेरी आँखों में सिमट आये समंदर सारे।

Aansoo shayari - मेरा राज़

Na Jaane Kaun Sa Aansoo Mera Raaz Khol De,
Hum Iss Khayal Se Najrein Jhukaye Baithhe Hain.

न जाने कौन सा आँसू मेरा राज़ खोल दे,
हम इस ख़्याल से नज़रें झुकाए बैठे हैं।

Aansoo shayari - आँसुओं में

Phir Aaj Aansuon Mein Nahayi Huyi Hai Raat,
Shayad Humari Tarah Hi Sataayi Huyi Hai Raat.

फिर आज आँसुओं में नहाई हुई है रात,
शायद हमारी तरह ही सताई हुई है रात।

Aansoo shayari - समंदर में

Samandar Mein Utarta Hoon,
Toh Aankhien Bheeg Jati Hain,
Teri Aankhon Ko Parhta Hoon,
Toh Aankhien Bheeg Jati Hain,
Tumhara Naam Likhne Ki,
Izazat Chhin Gayi Jab Se,
Koi Bhi Lafz Likhta Hoon
Toh Aankhien Bheeg Jati Hain.

समंदर में उतरता हूँ
तो आँखें भीग जाती हैं,
तेरी आँखों को पढ़ता हूँ
तो आँखें भीग जाती हैं,
तुम्हारा नाम लिखने की
इजाज़त छिन गई जबसे,
कोई भी लफ्ज़ लिखता हूँ
तो आँखें भीग जाती हैं।

Ashq Shayari - मेरे सब्र पर

Jo Hairan Hain Mere Sabr Par Unse Kah Do,
Jo Aansoo Zamin Par Nahi Girte Dil Cheer Dete Hain.

जो हैरान है मेरे सब्र पर उनसे कह दो.
जो आँसू जमीं पर नहीं गिरते दिल चीर जाते हैं।

अश्क़ शायरी- ये बरसातें

Bahut Ajeeb Hain Tere Baad Ki Ye Barsaatein Bhi,
Hum Aksar Band Kamron Mein Bheeg Jaate Hain.

बहुत अजीब हैं तेरे बाद की ये बरसातें भी,
हम अक्सर बन्द कमरे में भीग जाते हैं।

Aansoo shayari in hindi - बहाना यूँ भी

Tumhari Yaad Mein Aansoo Bahana Yun Bhi Jaroori Hai,
Ruke Dariya Ke Paani Ko Toh Pyasa Bhi Nahi Chhuta.

तुम्हारी याद में आँसू बहाना यूँ भी जरूरी है,
रुके दरिया के पानी को तो प्यासा भी नहीं छूता।

अश्क़ शायरी - धुल जाये

Pyaas Bujh Jaye Zamin Sabz Ho Manzar Dhul Jaye,
Kaam Kya Kya Na Inn Aankhon Ki Tari Aaye Humein.

प्यास बुझ जाये ज़मीं सब्ज़ हो मंज़र धुल जाये,
काम क्या क्या न इन आँखों की तरी आये है।

ashq shayari - लफ्ज़ थक गए

Jab Lafz Thak Gaye Toh Phir Aankhon Ne Baat Ki,
Jo Aankhein Bhi Thak Gayin Toh Ashqon Se Baat Hui.

जब लफ्ज़ थक गए तो फिर आँखों ने बात की,
जो आँखें भी थक गयीं तो अश्कों से बात हुई।

Aansoo shayari - आँख में आँसू

Abhi Se Kyun Chhalak Aaye Tumhari Aankh Mein Aansoo,
Abhi Chhedi Kahan Hai Daastaan-e-Zindagi Maine.

अभी से क्यों छलक आये तुम्हारी आँख में आँसू,
अभी छेड़ी कहाँ है दास्तान-ए-ज़िंदगी मैंने।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *