Alone Shayari | Alone Status | Shayari on lonliness in Hindi | 150+

Alone shayari - हवा

Koi Rafeeq, Na Rahbar, Na Koi RahGujar,
Udaa Ke Layi Hai Kis Shahar Mein Hawa Mujhko.

कोई रफ़ीक़ न रहबर न कोई रहगुज़र,
उड़ा के लाई है किस शहर में हवा मुझको।

Alone status- गौर से देखोगे

Kabhi Jab Gaur Se Dekhoge Toh Itna Jaan Jaoge,
Ke Tumhare Bin Har Lamha Humari Jaan Leta Hai.

कभी जब गौर से देखोगे तो इतना जान जाओगे,
कि तुम्हारे बिन हर लम्हा हमारी जान लेता है।

funny shayari in hindi for girlfriend,funny shayari in hindi with photo,very very funny shayari in hindi,परीक्षा फनी शायरी,फनी शायरी जोक्स,फनी शायरी इन हिंदी फॉर गर्लफ्रैंड,फनी शायरी इन हिंदी फॉर बॉयफ्रेंड,फनी शायरी इमेजेज, funny shayari in hindi for friends, hindi shayari funny dosti,comedy shayari in hindi,funny shayari fb,comedy shero shayari in hindi, love shayari in hindi for boyfriend,beautiful hindi love shayari,hindi shayari love sad,sad love shayari,dil love shayari, hindi shayari collection,love shayari image, sad love shayari,dil love shayari,beautiful hindi love shayari, love shayari image,hindi shayari love sad, लव शायरी हिंदी में 2019,बेहतरीन लव शायरी,न्यू लव शायरी 2019, हिंदी शायरी दो लाइन, बेहतरीन लव शायरीन्यू लव शायरी 2019,लव शायरी हिंदी में 2019, शायरी हिन्दी, alone shayari, alone status,

Alone shayari - दिल गया तो

Dil Gaya Toh Koi Aankhein Bhi Le Jaata,
Faqat Ek Hi Tasvir Kahan Tak Dekhun.

दिल गया तो कोई आँखें भी ले जाता,
फ़क़त एक ही तस्वीर कहाँ तक देखूँ।

Alone shayari - तेरे

Ek Tere Na Hone Se Badal Jata Hai Sab Kuchh,
Kal Dhoop bhi Deewar Par Poori Nahi Utri.

एक तेरे ना होने से बदल जाता है सब कुछ
कल धूप भी दीवार पे पूरी नहीं उतरी।

Alone shayari - शहर

Kitni Ajeeb Hai Iss Shahar Ki Tanhai Bhi,
Hajaro Log Hain Magar Koi Uss Jaisa Nahi Hai.

कितनी अजीब है इस शहर की तन्हाई भी,
हजारों लोग हैं मगर कोई उस जैसा नहीं है।

Alone shayari - तुम जब आओगे 

Tum Jab Aaoge Toh Khoya Hua Paoge Mujhe,
Meri Tanhai Mein Khawbon Ke Siwa Kuchh Bhi Nahin,
Mere Kamre Ko Sajaane Ki Tamanna Hai Tumhein,
Mere Kamre Mein Kitaabon Ke Siwa Kuchh Bhi Nahin.

तुम जब आओगे तो खोया हुआ पाओगे मुझे,
मेरी तन्हाई में ख़्वाबों के सिवा कुछ भी नहीं,
मेरे कमरे को सजाने कि तमन्ना है तुम्हें,
मेरे कमरे में किताबों के सिवा कुछ भी नहीं।

Alone shayari - जगमगाते शहर

JagMagaate Shahar Ki Ranaaiyon Mein Kya Na Tha,
Dhoondne Nikla Tha Jisko Bas Wohi Chehra Na Tha,
Hum Wahi, Tum Bhi Wahi, Mausam Wahi, Manzar Wahi,
Faasle Barh Jaayenge Itne Maine Kabhi Socha Na Tha.

जगमगाते शहर की रानाइयों में क्या न था,
ढूँढ़ने निकला था जिसको बस वही चेहरा न था,
हम वही, तुम भी वही, मौसम वही, मंज़र वही,
फ़ासले बढ़ जायेंगे इतने मैंने कभी सोचा न था।

Alone shayari - मीठी

Meethhi Si Khushboo Mein Rahte Hain GumSum,
Apne Ehsaas Se Baant Lo Tanhai Meri.

मीठी सी खुशबू में रहते हैं गुमसुम,
अपने अहसास से बाँट लो तन्हाई मेरी।

Alone shayari - तन्हाईयाँ

Tnhayiaan Kuchh Iss Tarah Se Dasne Lagi,
Main Aaj Apne Pairon Ki Aahat Se Darr Gaya.

तन्हाईयाँ कुछ इस तरह से डसने लगी मुझे,
मैं आज अपने पैरों की आहट से डर गया।

Alone shayari - मुलाक़ात

Unse Mulakat Ke SilSile Kya Band Huye,
Muddatein Beeti Hain Aayine Se RuBaRu Huye.

उनसे मुलाक़ात के सिलसिले क्या बन्द हुए,
मुद्दतें बीती हैं आईने से रूबरू हुए।

लड़कियों को कैसे इम्प्रेस करें। (50+ Tips)

Alone shayari - अहसास 

Tum Kya Gaye Ke Waqt Ka Ehsaas Mar Gaya,
Raaton Ko Jaagte Rahe Aur Din Ko So Gaye.

तुम क्या गए कि वक़्त का अहसास मर गया,
रातों को जागते रहे और दिन को सो गए।

Alone shayari - कमाल का ताना देती है

Kamaal Ka Taana Deti Hai Yeh Duniya Mujhe,
Agar Woh Tera Hai Toh Tere Paas Kyon Nahi.

कमाल का ताना देती है ये दुनिया मुझे,
अगर वो तेरा है तो तेरे पास क्यों नहीं।

Alone shayari - एक उम्र है

Ek Umr Hai Jo Tere Bagair Gujaarni Hai,
Aur Ek Lamha Bhi Tere Bagair Gujarta Nahi.

एक उम्र है जो तेरे बगैर गुजारनी है,
और एक लम्हा भी तेरे बगैर गुजरता नहीं।

Alone status - दरिया 

Sahara Lena Hi Padta MujhKo Dariya Ka,
Main Ek Katra Hoon Tanha Toh Bah Nahi Sakta.

सहारा लेना ही पड़ता है मुझको दरिया का,
मैं एक कतरा हूँ तनहा तो बह नहीं सकता।

Alone status - ज़िंदगी की इक अदा है

Ye Bhi Shayad Zindagi Ki Ek Adaa Hai Dosto,
Jisko Koi Mil Gaya Woh Aur Tanha Ho Gaya.

ये भी शायद ज़िंदगी की इक अदा है दोस्तों,
जिसको कोई मिल गया वो और तन्हा हो गया।

Alone shayari - मौसम

Yoon Toh Har Rang Ka Mausam Mujhse Waqif Hai Magar,
Raat Ki Tanhai Mujhe Kuchh Alag Hi Janti Hai.

यूँ तो हर रंग का मौसम मुझसे वाकिफ है मगर
रात की तन्हाई मुझे कुछ अलग ही जानती है।

Alone status - साँसें मेरी

Ek Tumhien The Jiske Dum Pe Chalti Thi Saanse Meri,
Laut Aao Ke Zindagi Se Ab Wafa Nibhayi Nahi Jati.

एक तुम्हीं थे जिसके दम पे चलती थी साँसें मेरी,
लौट आओ कि ज़िंदगी से वफ़ा निभाई नहीं जाती।

Alone shayari - शिकायत

Mujhko Meri Tanhai Se Ab Shikayat Nahi Hai,
Main Patthar Hoon Mujhe Khud Se Bhi Shikayat Nahi Hai.

मुझको मेरी तन्हाई से अब शिकायत नहीं है,
मैं पत्थर हूँ मुझे खुद से भी मोहब्बत नहीं है।

Alone status - गुजरने

Kuchh Kar Gujarne Ki Chaah Mein Kahan Kahan Se Gujre,
Akele Hi Najar Aaye Hum Jahan-Jahan Se Gujre.

कुछ कर गुजरने की चाह में कहाँ-कहाँ से गुजरे,
अकेले ही नजर आये हम जहाँ-जहाँ से गुजरे।

Alone status - मज़बूत

Woh Har Baar Mujhe Chhod Ke Chale Jate Hain Tanha,
Main Mazboot Bahut Hoon Lekin Patthar Toh Nahi Hoon.

वो हर बार मुझे छोड़ के चले जाते हैं तन्हा,
मैं मज़बूत बहुत हूँ लेकिन कोई पत्थर तो नहीं हूँ।

चैट पर लड़की को कैसे इम्प्रेस करें!

Alone shayari - साथ गुजारा

Main Bhi Tanha Hoon Aur Tum Bhi Tanha,
Waqt Kuchh Saath Gujara Jaye.

मैं भी तनहा हूँ और तुम भी तन्हा,
वक़्त कुछ साथ गुजारा जाए।

Alone shayari - जाम खाली है

Shaam Khali Hai Jaam Khali Hai,
Zindagi Yoon Hi Gujarne Wali Hai.

शाम खाली है जाम खाली है,
ज़िन्दगी यूँ गुज़रने वाली है।

Alone status - शब-ए-तन्हाई में कैसा सोना

Aankhein Footein Jo Jhapakti Bhi Hon,
Shab-e-Tanhai Mein Kaisa Sona.

आँखें फूटें जो झपकती भी हों,
शब-ए-तन्हाई में कैसा सोना।

Alone shayari - ख़्वाब

Chand Raaton Ke Mahekte Khwaab,
Zindagi Bhar Ki Neendein Le Gaye.

चन्द रातों के महकते ख़्वाब,
ज़िन्दगी भर की नींद ले गए।

Alone status - तन्हाई 

Main Hoon Dil Hai Tanhai Hai,
Tum Bhi Jo Hote Toh Achcha Hota.

मैं हूँ दिल है तन्हाई है,
तुम भी जो होते तो अच्छा होता।

Alone shayari - शिकायत ना रही

Jab Se Dekha Hai Chand Ko Tanha,
Tum Se Bhi Koi Shikayat Na Rahi.

जब से देखा है चाँद को तन्हा,
तुम से भी कोई शिकायत ना रही।

Alone shayari - एक शाम तुम्हारे

Kaise Gujarti Hai Meri
Har Ek Shaam Tumhare Bagair,
Agar Tum Dekh Lete Toh
Kabhi Tanha Na Chhodte Mujhe.

कैसे गुजरती है मेरी
हर एक शाम तुम्हारे बगैर,
अगर तुम देख लेते तो
कभी तन्हा न छोड़ते मुझे।

Alone shayari - कब के मर गए होते

Bichhad Ke Bhi Wo Roj
Milta Hai Mujhe Khwabon Mein.
Agar Ye Neend Na Hoti Toh
Kab Ke Mar Gaye Hote.

बिछड़ के भी वो रोज
मिलता है मुझे ख्वाबों में,
अगर ये नींद न होती तो
कब के मर गए होते।

Alone status - तमन्ना के
सहारे 

Abhi Zinda Hun Lekin
Sochta Rehta Hoon Akele Mein,
Ke Ab Tak Kis Tamanna Ke
Sahare Ji Liya Maine.

अभी ज़िंदा हूँ, लेकिन
सोचता रहता हूँ अकेले में,
कि अब तक किस तमन्ना के
सहारे जी लिया मैंने।

Alone status - बहुत सोचा बहुत समझा

Bahut Socha Bahut Samjha
Bahut Hi Der Tak Parkha,
Ki Tanha Ho Ke Jee Lena
Mohabbat Se To Behtar Hai.

बहुत सोचा बहुत समझा
बहुत ही देर तक परखा,
कि तन्हा हो के जी लेना
मोहब्बत से तो बेहतर है।

दिल का टूटना आपको सफल बना सकता है |

Alone status - काश तू समझ सकती

Kaash Tu Samajh Sakti Mohabbat Ke Usoolo Ko,
Kisi Ki Saanson Mein Samakar Usey Tanha Nahi Karte.

काश तू समझ सकती मोहब्बत के उसूलों को,
किसी की साँसों में समाकर उसे तन्हा नहीं करते।

Alone status - मुट्ठी 

Band Mutthhi Se Yaad Girti Hai Ret Ki Maanind,
Woh Chala Gaya Zindagi Se Zarra-Zarra Karke.

बंद मुट्ठी से याद गिरती है रेत की मानिंद,
वो चला गया ज़िन्दगी से ज़र्रा-ज़र्रा कर के।

Alone shayari - घबरा गया

Kabhi Ghabra Gaya Hoga Dil Tanhayi Mein Unka,
Meri Tasveer Ko Sine Se Laga Kar So Gaye Honge.

कभी घबरा गया होगा दिल तन्हाई में उनका,
मेरी तस्वीर को सीने से लगा कर सो गए होंगे।

Alone status - जाऊंगा 

Chala Jaunga Jaise Ḳhud Ko Tanha Chhoḍ Kar,
Main Apne AapKo Raaton Mein Uth Kar Dekh Leta Hoon.

चला जाऊंगा जैसे खुद को तनहा छोड़ कर,
मैं अपने आपको रातों में उठकर देख लेता हूँ।

Alone shayari - एहतियातन

Aihtiyatan Dekhta Chal Apne Saaye Ki Taraf,

Iss Tarah Shayad Tujhe Ehsaas-e-Tanhai Na Ho.

एहतियातन देखता चल अपने साए की तरफ,

इस तरह शायद तुझे एहसास-ए-तन्हाई न हो।

Alone status - मेरी तन्हाई भी मुझसे

Kahne Lagi Hai Ab Toh Meri Tanhai Bhi MujhSe,
MujhSe Kar Lo Mohabbat Main Toh Bewafa Bhi Nahin.

कहने लगी है अब तो मेरी तन्हाई भी मुझसे,
मुझसे कर लो मोहब्बत मैं तो बेवफा भी नहीं।

Alone shayari - आगोश़ में

Subakti Rahi Raat Akeli Tanhayion Ke Aagosh Mein,
Aur Woh Kafir Din Se Mohabbat Kar Ke Uska Ho Gaya.

सुबकती रही रात अकेली तनहाइयों के आगोश़ में,
और वो काफ़िर दिन से मोहब्बत कर के उसका हो गया।

Alone shayari - बताना तो था

Tum Phir Na Aa Sakoge Batana Toh Tha Na Mujhe,
Tum Dur JaKar Bas Gaye Main Dhoondhta Hi Rah Gaya.

तुम फिर ना आ सकोगे, बताना तो था ना मुझे,
तुम दूर जा कर बस गए मैं ढूंढ़ता ही रह गया।

Alone shayari - बारिश की बूँदें

Tere Bagair Iss Mausam Mein Woh Mazaa Kahan,
Kaanton Ki Tarah Chubhti Hain Barish Ki Boonden.

तेरे बगैर इस मौसम में वो मजा कहाँ,
काँटों की तरह चुभती है बारिश की बूँदें।

Alone shayari - हँस के जी

Kitna Bhi Duniya Ke Liye Hans Ke Jee Lein Hum,
Rula Deti Hai Fir Bhi Kisi Ki Kami Kabhi Kabhi.

कितना भी दुनिया के लिए हँस के जी लें हम,
रुला देती है फिर भी किसी की कमी कभी-कभी।

Alone shayari - हम क्या करें

Kudrat Ke Inn Haseen Najaaron Ka Hum Kya Karein,
Tum Saath Nahi Toh Inn Chaand Sitaron Ka Kya Karein.

कुदरत के इन हसीन नजारों का हम क्या करें,
तुम साथ नहीं तो इन चाँद सितारों का क्या करें।

Alone shayari - तेरे बिना।

Tere Sahaare Maut Se Ladta Raha Ta-Zindgi,
Kya Karun Iss Zindagi Ka Main Bata Tere Bina.

तेरे सहारे मौत से लड़ता रहा ता-ज़िंदगी,
क्या करूँ इस ज़िंदगी का मैं बता तेरे बिना।

Alone shayari - ओझल हो गए

Raasta Mujhko Dikhaya Aur ojhal Ho Gaye,
Aap Ke Rahmo-Karam Ka Shukriya Kaise Karun.

रास्ता मुझको दिखाया और ओझल हो गए,
आप के रहमो-करम का शुक्रिया कैसे करूँ।

Alone shayari - मुलाक़ात रही

Chand Lamhon Ke Liye Ek Mulakaat Rahi,
Phir Na Woh Tu, Na Woh Main, Na Woh Raat Rahi.

चंद लम्हों के लिए एक मुलाक़ात रही,
फिर ना वो तू, ना वो मैं, ना वो रात रही।

Alone shayari - वो आइना

Dekh Kar Chehra Palat Dete Hain Ab Woh Aayina,
Mausam-e-Furqat Unhein Soorat Koi Bhaati Nahi.

देख कर चेहरा पलट देते हैं अब वो आइना,
मौसम-ए-फुरकत उन्हें सूरत कोई भाती नहीं।

Alone shayari - दर्द यूँ होगा

Kabhi Socha Na Tha Tanhayion Ka Dard Yun Hoga,
Mere Dushaman Hi Mera Haal Mujhse Puchhte Hain.

कभी सोचा न था तन्हाइयों का दर्द यूँ होगा,
मेरे दुश्मन ही मेरा हाल मुझसे पूछते हैं।

Alone shayari - कैद में

Qaid Mein itna Zamana Ho Gaya,
Ab Qafas Bhi Aashiyana Ho Gaya.

कैद में इतना ज़माना हो गया,
अब कफस भी आशियाना हो गया।

Alone shayari - एक लहजा

Ek Lehja Nahi Karaar Jee Ko,
Maut Aaye Bas Aisi Zindgi Ko.

एक लहजा नहीं करार जी को,
मौत आये बस ऐसी जिंदगी को।

Alone shayari - नमी सी

Shaam Se Aankh Mein Nami Si Hai,
Aaj Phir Aap Ki Kami Si Hai.

शाम से आँख में नमी सी है,
आज फिर आप की कमी सी है।

Alone shayari - दिल को

Dil Ko Aata Hai Jab Bhi Khayal Unka,
Tasvir Se Puchhte Hain Fir Haal Unka.

दिल को आता है जब भी ख्याल उनका,
तस्वीर से पूछते हैं फिर हाल उनका।

Alone shayari - कोई साथ

Tanhai Rahi Saath Ta-Zindagi Mere,
Shikwa Nahi Ke Koi Saath Na Raha.

तन्हाई रही साथ ता-जिंदगी मेरे,
शिकवा नहीं कि कोई साथ न रहा।

Alone shayari - महफिलों में

Kya Karenge Mehfilon Mein Hum Bata,
Mera Dil Rehta Hai Kafilon Mein Akela.

क्या करेंगे महफिलों में हम बता,
मेरा दिल रहता है काफिलों में अकेला।

Alone shayari - हर वक़्त

Har Waqt Ka Hansna Tujhe Barbaad Na Kar De,
Tanhai Ke Lamhon Mein Kabhi Ro Bhi Liya Kar.

हर वक़्त का हंसना तुझे बर्बाद ना कर दे,
​तन्हाई के लम्हों में, कभी रो भी लिया कर।

Alone shayari - मुझको वो रास्ते

Rote Hain Tanha Dekh Kar Mujhko Woh Raaste,
Jin Pe Tere Bagair Main Gujra Kabhi Na Tha.

रोते हैं तनहा देख कर मुझको वो रास्ते,
जिन पे तेरे बग़ैर मैं गुजरा कभी न था।

Alone shayari - वो मिला

Abhi Abhi Woh Mila Tha Hajaar Baatein Ki,
Abhi Abhi Woh Gaya Hai Magar Zamana Hua.

अभी अभी वो मिला था हजार बातें कीं,
अभी अभी वो गया है मगर ज़माना हुआ।

Alone shayari - एक रात

Ek Raat Kya Gujari Teri Tanhai Mein,
Gujar Gayin Hajaaon Barishein Aankhon Se.

एक रात क्या गुजरी तेरी तन्हाई में,
गुजर गयी हजारों बारिशें आँखों से।

Alone shayari - वक़्त गुज़ारा

Tum Se Bichhad Ke Kuchh Yoon Waqt Gujara,
Kabhi Zindagi Ko Tarse Kabhi Maut Ko Pukara.

तुम से बिछड़ के कुछ यूँ वक़्त गुज़ारा,
कभी ज़िंदगी को तरसे कभी मौत को पुकारा।

Alone shayari - अकेलापन

Khwab Boye The Akelapan Kata Hai,
Iss Mohabbat Mein Yaaron Bahut Ghata Hai.

ख्वाब बोये थे और अकेलापन काटा है,
इस मोहब्बत में यारों बहुत घाटा है।

Alone shayari - शब-ए-तन्हाई

Tera Pehlu Tere Dil Ki Tarah Aabad Rahe,
Tujh Pe Gujre Na Qayamat Shab-e-Tanhayi Ki.

तेरा पहलू तेरे दिल की तरह आबाद रहे,
तुझपे गुज़रे न क़यामत शब-ए-तन्हाई की।

Alone shayari - रहगुज़र

Koi Rafeeq, Na Rahbar, Na Koi RahGujar,
Udaa Ke Layi Hai Kis Shahar Mein Hawa Mujhko.

कोई रफ़ीक़ न रहबर न कोई रहगुज़र,
उड़ा के लाई है किस शहर में हवा मुझको।

Alone shayari - आता नहीं है

Aata Nahi Hai Jeena Uss Nadan Ke Bagair,
Kash Uss Shakhs Ne Marna Bhi Sikhaya Hota.

आता नहीं है जीना उस नादान के बगैर,
काश उस शख्स ने मरना भी सिखाया होता।

Alone shayari - तेरे साथ

Tere Saath Hone Tak Hi Mehsoos Hui Zindagi,
Na Tere Aane Se Pehle Na Tere Jaane Ke Baad.

तेरे साथ होने तक ही महसूस हुई जिंदगी,
न तेरे आने से पहले न तेरे जाने के बाद।

Alone shayari - कैसे दिन

Kaise Din Aaye Ke Tera Zikar Fasana Hua Hai,
Aise Lagta Hai Tujhe Dekhe Zamana Hua Hai.

कैसे दिन आये कि तेरा ज़िक्र फ़साना हुआ है,
ऐसे लगता है तुझे देखे ज़माना हुआ है।

Alone shayari - मेरी तन्हाइयां

Meri Tanhayian Karti Hain Jinhein Yaad Sadaa,
Unn Ko Bhi Meri Jarurat Ho Jaroori Toh Nahi.

​मेरी तन्हाइयां करती हैं ​जिन्हें याद सदा,
उन को भी मेरी ज़रुरत हो ज़रूरी तो नहीं।

Alone shayari - कितनी फ़िक्र है

Kitni Fikr Hai Kudrat Ko Meri Tanhayi Ki,
Jagte Rahte Hain Raat Bhar Sitare Mere Liye.

कितनी फ़िक्र है कुदरत को मेरी तन्हाई की,
जागते रहते हैं रात भर सितारे मेरे लिए।

Alone shayari - छोड दो

Chhod Do Tanhai Mein Mujhko Yaaro,
Saath Mere Rahkar Kya Paaoge,
Agar Ho Gayi Aapko Bhi Mohabbat Kabhi,
Meri Tarah Tum Bhi Pachhtaoge.

छोड दो तन्हाई में मुझको यारो,
साथ मेरे रहकर क्या पाओगे,
अगर हो गई आपको भी मोहब्बत कभी,
मेरी तरह तुम भी पछताओगे।

Alone shayari - इंतज़ार की

Intezaar Ki Arzoo Ab Kho Gayi Hai,
Khamoshion Ki Aadat Si Ho Gayi Hai,
Na Shiqwa Raha Na Shiqayat Kisi Se,
Bas Ek Mohabbat Hai,
Jo Inn Tanhayion Se Ho Gayi Hai.

इंतज़ार की आरज़ू अब खो गयी है,
खामोशियों की आदत सी हो गयी है,
न शिकवा रहा न शिकायत किसी से,
बस एक मोहब्बत है,
जो इन तन्हाइयों से हो गई है।

Alone shayari - जोश-ए-तन्हाई

Woh Josh-e-Tanhai Shab-e-Gham,
Woh Har Taraf Bekasi Ka Aalam,
Kati Hai Aankhon Mein Raat Saari
Tadap Tadap Kar Sahar Huyi Hai.

वो जोश-ए-तन्हाई शब-ए-ग़म,
वो हर तरफ बेकसी का आलम,
कटी है आँखों में रात सारी,
तड़प तड़प कर सहर हुयी।

Alone shayari - घर बना कर

Ghar Bana Kar Mere Dil Mein Woh Chhod Gaya,
Na Khud Rehta Hai Na Kisi Aur Ko Basne Deta Hai.

घर बना कर मेरे दिल में वो छोड़ गया,
न खुद रहता है न किसी और को बसने देता है।

Alone shayari - जरुरत

Jarurat Jab Bhi Thi Mujh Ko Kisi Ke Saath Ki,
Unhi Makhsoos Lamhon Mein Mujhe Chhoda Hai Apno Ne.

जरुरत जब भी थी मुझको किसी के साथ की,
उन्हीं मखसूस लम्हों में मुझे छोड़ा है अपनों ने।

Alone shayari - रोते हैं

Kuchh Log Zamane Mein Aise Bhi Hote Hain,
Mehfil Mein Toh Hanste Hain Tanhai Mein Rote Hain.

कुछ लोग जमाने में ऐसे भी तो होते हैं,
महफिल में तो हंसते हैं तन्हाई में रोते हैं।

Alone shayari - याद भरी

Ek Purana Mausam Lauta Yaad Bhari Purwai Bhi,
Aisa Toh Kam Hi Hota Hai Woh Bhi Ho Tanhai Bhi.

एक पुराना मौसम लौटा याद भरी पुरवाई भी,
ऐसा तो कम ही होता है वो भी हो तन्हाई भी।

Alone shayari - मेरा और

Mera Aur Uss Chaand Ka Muqaddar Ek Jaisa Hai,
Woh Taaron Mein Tanha Main Hajaaron Mein Tanha.

मेरा और उस चाँद का मुकद्दर एक जैसा है,
वो तारों में तन्हा है और मैं हजारों में तन्हा।

Alone shayari - खुदा करे के

Khuda Kare Ke Teri Umr Mein Gine Jayein,
Woh Din Jo Humne Tere Hijr Mein Gujaare Hain.

खुदा करे के तेरी उम्र में गिने जाये,
वो दिन जो हमने तेरे हिज्र में गुजारे है।

Alone shayari - रात को जब

Yun Bhi Hua Hai Raat Ko Jab Log So Gaye,
Tanhai Aur Main Teri Baaton Mein Kho Gaye.

यूँ भी हुआ रात को जब लोग सो गए,
तन्हाई और मैं तेरी बातों में खो गए।

Alone shayari - साँसों में

Tere Wajood Ki Khushbo Basi Hai Saanson Mein,
Yeh Aur Baat Hai Najaron Se Dur Rahete Ho.

तेरे वजूद की खुशबु बसी है साँसों में,
ये और बात है नजरों से दूर रहते हो।

Alone shayari - तुम्हारे बगैर

Tumhare Bagair Yeh Waqt Yeh Din Aur Yeh Raat,
Gujar Toh Jaate Hain Magar Gujaare Nahi Jaate.

तुम्हारे बगैर ये वक़्त ये दिन और ये रात,
गुजर तो जाते हैं मगर गुजारे नहीं जाते।

Alone shayari - ऐ शम्मा

Aye Shamma Tujhpe Yeh Raat Bhaari Hai Jis Tarah,
Humne Tamaam Umr Gujaari Hai Uss Tarah.

ऐ शम्मा तुझपे ये रात भारी है जिस तरह,
हमने तमाम उम्र गुजारी है उस तरह।

Alone shayari - रो लेंगे

Tanhayi Ki Raat Kat Hi Jayegi
Itne Bhi Hum Majboor Nahi,
Dohra Kar Teri Baaton Ko
Kabhi Hans Lenge Kabhi Ro Lenge.

तन्हाई कि रात कट ही जाएगी
इतने भी हम मजबूर नहीं,
दोहरा कर तेरी बातों को
कभी हँस लेंगे कभी रो लेंगे।

Alone shayari - बीते हुए

Beete Huye Kuchh Din Aise Hain,
Tanhai Jinhein Dohrati Hai,
Ro-Ro Ke Gujarti Hain Raatein,
Aankhon Mein Sahar Ho Jati Hai.

बीते हुए कुछ दिन ऐसे हैं
तन्हाई जिन्हें दोहराती है,
रो-रो के गुजरती हैं रातें
आंखों में सहर हो जाती है।

Alone shayari - तन्हाई

Kaanto Si Chubhti Hai Tanhai,
Angaron Si Sulagti Hai Tanhai,
Koi Aakar Humein Hansaa De Jara,
Main Rota Hun Toh Rone Lagti Hai Tanhai.

कांटो सी चुभती है तन्हाई,
अंगारों सी सुलगती है तन्हाई,
कोई आ कर हमें ज़रा हँसा दे,
मैं रोता हूँ तो रोने लगती है तन्हाई।

Alone shayari - मेरे नाम

Uske Dil Me Thodi Si Jagah Maagi Thi
Musafiron Ki Tarah,
Usne Tanhayion Ka Ek Shahar
Mere Naam Kar Diya.

उसके दिल में थोड़ी सी जगह माँगी थी
मुसाफिरों की तरह,
उसने तन्हाईयों का एक शहर
मेरे नाम कर दिया।

Alone shayari - जला दो मुझको

Phir Kahin Dur Se Ek Baar Sadaa Do Mujhko,
Meri Tanhaai Ka Ehsaas Dila Do Mujhko,
Tum Chaand Ho Tumhein Meri Jarurat Kya Hai,
Main Dia Hun Kisi Chakhat Pe Jala Do Mujhko.

फिर कहीं दूर से एक बार सदा दो मुझको,
मेरी तन्हाई का एहसास दिला दो मुझको,
तुम तो चाँद हो तुम्हें मेरी ज़रुरत क्या है,
मैं दिया हूँ किसी चौखट पे जला दो मुझको।

Alone shayari - बुरा लगता है

Tu Nahi Toh Yeh Najara Bhi Bura Lagta Hai,
Chaand Ke Paas Sitara Bhi Bura Lagta Hai,
Laa Ke Jis Roj Chhoda Hai Tu Ne Bhanwar Mein,
Mujhe Dariya Ka Kinara Bhi Bura Lagta Hai.

तू नहीं तो ये नजारा भी बुरा लगता है,
चाँद के पास सितारा भी बुरा लगता है,
ला के जिस रोज छोड़ा है तूने भंवर में मुझे,
मुझे दरिया का किनारा भी बुरा लगता है।

Alone shayari - तन्हाई पास हो

Jab Mehfil Mein Bhi Tanhayi Paas Ho,
Roshni Mein Bhi Andhere Ka Ehsaas Ho,
Tab Kisi Khaas Ki Yaad Mein Muskura Do,
Shayad Woh Bhi Aapke Intezar Mein Udaas Ho.

जब महफ़िल में भी तन्हाई पास हो,
रोशनी में भी अँधेरे का एहसास हो,
तब किसी खास की याद में मुस्कुरा दो,
शायद वो भी आपके इंतजार में उदास हो।

Alone shayari - मैराज़-ए-इश्क

Chale Bhi Aao Ke Mairaaz-e-Ishq Ho Jaye,
Aaj Ki Raat Akela Hun Main Khuda Ki Tarah.

चले भी आओ कि मैराज़-ए-इश्क हो जाए,
आज की रात अकेला हूँ मैं खुदा की तरह।

Alone shayari - दरख़्त

Meri Hai Woh Misaal Ke Jaise Koi Darakht,
Chup-Chap Andhiyoun Mein Hai Tanha Khada Hua.

मेरी है वो मिसाल कि जैसे कोई दरख़्त,
चुप-चाप आँधियों में भी तन्हा खड़ा हुआ।

Alone shayari - खाके में

Hajaar Rang Bhare Zindagi Ke Khaake Mein,
Tere Bagair Yeh Tasveer NaMukammal Rahi.

हजार रंग भरे जिंदगी के खाके में,
तेरे बगैर ये तस्वीर नामुकम्मल रही।

Alone shayari - मेरा शौक

Meri Tanhayi Ko Mera Shauk Na Samajhna,
Bahut Pyar Se Diya Hai Yeh Tohfa Kisi Ne.

मेरी तन्हाई को मेरा शौक न समझना,
बहुत प्यार से दिया है ये तोहफा किसी ने।

Alone shayari - मेरी तरह

Woh Bhi Bahut Akela Hai Shayad Meri Tarah,
Uss Ko Bhi Koi Chahne Wala Nahi Mila.

वो भी बहुत अकेला है शायद मेरी तरह,
उस को भी कोई चाहने वाला नहीं मिला।

Alone shayari - अकेला

Hum Anjuman Mein Sabki Taraf Dekhte Rahe,
Apni Tarah Se Koi Humein Akela Nahi Mila.

हम अंजुमन में सबकी तरफ देखते रहे,
अपनी तरह से कोई हमें अकेला नहीं मिला।

Alone shayari - खुशबू

Humara Dil Kisi Gehri Judai Ke Bhanwar Mein Hai,
Humari Aankh Bhi Nam Hai Kabhi Milne Chale Aao,
Hawaaon Aur Phoolon Ki Nayi Khsuhboo Batati Hai,
Tere Aane Ka Mausam Hai Kabhi Milne Chale Aao.

हमारा दिल किसी गहरी जुदाई के भँवर में है,
हमारी आँख भी नम है कभी मिलने चले आओ,
हवाओं और फूलों की नई खुशबू बताती है,
तेरे आने का मौसम है कभी मिलने चले आओ।

Alone shayari - बार बार तनहा

Ek Pal Ka Ehsaas Bankar Aate Ho Tum,
Dusre Hi Pal Khwab Bankar Urh Jate Ho Tum,
Tum Jaante Ho Ki Lagta Hai Dar Tanhaiyon Se,
Phir Bhi Baar Baar Tanha Chhorh Jate Ho Tum.

एक पल का एहसास बनकर आते हो तुम,
दुसरे ही पल ख्वाब बनकर उड़ जाते हो तुम,
जानते हो की लगता है डर तन्हाइयों से,
फिर भी बार बार तनहा छोड़ जाते हो तुम।

Alone shayari - रातें रुलायेंगी

Meri Yaadein Mera Chehra Meri Baatein Rulayengi,
Hijr Ke Daur Mein Gujri Mulakatein Rulayengi,
Dino Ko Toh Chalo Tum Kaat Bhi Loge Fasano Mein,
Jahan Tanha Miloge Tum Tumhein Raatein Rulayengi.

मेरी यादें मेरा चेहरा मेरी बातें रुलायेंगी,
हिज़्र के दौर में गुज़री मुलाकातें रुलायेंगी,
दिनों को तो चलो तुम काट भी लोगे फसानों में,
जहाँ तन्हा मिलोगे तुम तुम्हें रातें रुलायेंगी।

Alone shayari - मिला दो

Laut Aao Aur Milo Usi Tadap Se,
Ab Toh Mujhe Meri Wafaon Ka Sila De Do,
Dekhe Hain Bahut Isne Tanhayi Ke Mausam,
Ab Toh Mere Dil Ko Apne Dil Se Mila Do.

लौट आओ और मिलो उसी तड़प से,
अब तो मुझे मेरी वफाओं का सिला दे दो,
देखे हैं बहुत इसने तन्हाई के मौसम,
अब तो मेरे दिल को अपने दिल से मिला दो।

Alone shayari - मुस्कुराये थे

Kya Lajawab Tha Tera Chhorh Ke Jana,
Bhari Bhari Aabkhon Se Muskuraye The Hum,
Ab Toh Sirf Main Hun Aur Teri Yaadein Hain,
Gujar Rahein Hain Yun Hi Tanhayi Ke Mausam.

क्या लाजवाब था तेरा छोड़ के जाना,
भरी भरी आँखों से मुस्कुराये थे हम,
अब तो सिर्फ मैं हूँ और तेरी यादें हैं,
गुजर रहे हैं यूँ ही तन्हाई के मौसम।

Alone shayari - आलम-ए-तन्हाई

Kaif Mein Duba Hua Hoon Aalam-e-Tanhayi Hai,
Phir Teri Yaad Dabe Paanv Chali Aayi Hai,
Shab-e-Tarik Pe Chhayi Huyi Raanayi Hai,
Yeh Teri Zulf Ke Saaye Hain Ke Parchhayi Hai,
Tere Deewane Ko Itna Bhi Ab Hosh Nahi,
Yeh Tera Aaghosh Hai Ya Ghausha-e-Tanhayi Hai.

कैफ में डूबा हुआ हूँ आलम-ए-तन्हाई है,
फिर तेरी याद दबे पाँव चली आई है,
शब-ए-तारीक पे छाई हुयी रानाई है,
यह तेरी ज़ुल्फ़ के साए हैं के परछाई है,
तेरे दीवाने को इतना भी अब होश नहीं,
ये तेरा आगोश है या गौसा-ए-तन्हाई है।

Alone shayari

Pee Rahein Hain Gamon Ka Zeher Hanste Hanste,
Teri Talkh Baaton Ne Gehre Zakhm De Diye Hain,
Akele Ab Thak Gaye Hum Bhi Aye Sanam,
Tu Na Sochna Ke Ter Bina Tanha Reh Gaye Hain.

Alone shayari

Chalte Chalte Akele Ab Thak Gaye Hum,
Jo Manzil Ko Jaye Woh Dagar Chahiye.
Tanhayi Ka Bojh Ab Aur UthTa Nahi,
Ab Humko Bhi Ek HumSafar Chahiye

Alone shayari - Jee Rahe Hai

Zindagi Ke Zehar Ko Yu Has Ke Pi Rahe Hai,
Tere Pyar Bina Yu Hi Zindagi Jee Rahe Hai,
Akelepan Se Toh Ab Darr Nahi Lagta Hamein,
Tere Jaane Ke Baad Yu Hi Tanha Jee Rahe Hai.

Alone shayari - Bilkul Adhoore

Raat Ki Tanhaion Mein Bechain Hain Hum,
Mehfil Jami Hai Phir Bhi Akele Hain Hum,
Aap Humse Pyaar Karein Ya Na Karein,
Par Aapke Bina Bilkul Adhoore Hain Hum.

Alone shayari - अकेला हूँ मैं

Aghosh Mein Lelo Mujhe Akela Hoon Main,
Basaa Lo Dil Ki Dhadkan Mein Akela Hun Main,
Jo Tum Nahi Zindagi Mein Toh Fir Kuchh Nahi,
Samaa Jaao Mujh Mein… Ke Akela Hoon Main.

आगोश में ले लो मुझे बहुत अकेला हूँ मैं,
बसा लो दिल की धड़कन में अकेला हूँ मैं,
जो तुम नहीं जिंदगी में तो फिर कुछ नहीं,
समा जाओ मुझमें… कि अकेला हूँ मैं।

Alone shayari - मंज़िल पे

Umeed Toh Manzil Pe Pahunchne Ki Badi Thi,
Takdeer Magar Na Jane Kahan Soyi Padi Thi,
Khush The Ke Gujarenge Rafakat Mein Safar,
Tanhayi Magar Baahon Ko Failaye Khadi Thi.

उम्मीद तो मंज़िल पे पहुँचने की बड़ी थी,
तक़दीर मगर न जाने कहाँ सोयी पड़ी थी,
खुश थे कि गुजारेंगे रफाकत में सफ़र,
तन्हाई मगर बाहों को फैलाये खड़ी थी।

Alone shayari - मेरे वजूद में

Na Jane Kyun Khud Ko Akela Sa Paya Hai,
Har Ek Rishte Me Khud Ko Ganwaya Hai,
Shayad Koyi Toh Kami Hai Mere Wajood Mein,
Tabhi Har Kisi Ne Humein Yun Hi Thukraya Hai.

ना जाने क्यूँ खुद को अकेला सा पाया है,
हर एक रिश्ते में खुद को गँवाया है।
शायद कोई तो कमी है मेरे वजूद में,
तभी हर किसी ने हमें यूँ ही ठुकराया है।

Alone shayari - तेरे बगैर

Aaj Kuchh Zindagi Mein Kami Hai Tere Bagair,
Na Rang Hai Na Roshni Hai Tere Bagair,
Waqt Chal Raha Hai Apni Hi Raftar Se,
Bas Tham Gayi Hai Dhadkan Ek Tere Bagair.

आज कुछ ज़िन्दगी में कमी है तेरे बगैर,
ना रंग है ना रौशनी है तेरे बगैर,
वक़्त चल रहा है अपनी ही रफ़्तार से,
बस थम गयी है धड़कन एक तेरे बगैर।

Alone shayari - क्या हूँ मैं

Kya Main Kahun Aur Kya Samjhte Hain,
Sab Raaz Nahi Hote Bataane Wale,
Kabhi Tanhaiyon Mein Aakar Dekhna,
Kaise Rote Hain Sabko Hansaane Wale.

क्या हूँ मैं और क्या समझते हैं,
सब राज़ नहीं होते बताने वाले,
कभी तन्हाइयों में आकर देखना,
कैसे रोते है सबको हंसाने वाले।

Alone shayari - पहलू में

Kabhi Pahlu Mein Aao Toh Batayenge Tumhein,
Haal-E-Dil Apna Tamaam Sunayenge Tumhein,
Kaati Hain Akele Kaise Humne Tanhayi Ki Raatein,
Har Uss Raat Ki Tadap Dikhayenge Tumhein

कभी पहलू में आओ तो बताएँगे तुम्हें,
हाल-ए-दिल अपना तमाम सुनाएँगे तुम्हें,
काटी हैं अकेले कैसे हमने तन्हाई की रातें,
हर उस रात की तड़प दिखाएँगे तुम्हें।

Alone shayari - जगा रातभर

Zamana So Gaya Aur Main Jaga Raat Bhar Tanha,
Tumhare Gam Se Dil Rota Raha Raat Bhar Tanha.

जमाना सो गया और मैं जगा रातभर तन्हा,
तुम्हारे गम से दिल रोता रहा रातभर तन्हा।

Alone shayari - आहट

Mere HumDum Tere Aane Ki Aahat Ab Nahi Milti,
Magar Nas-Nas Mein Tu Goonjti Rehti Raat Bhar Tanha.

मेरे हमदम तेरे आने की आहट अब नहीं मिलती,
मगर नस-नस में तू गूंजती रही रातभर तन्हा।

Alone shayari - रातभर तन्हा

Nahi Aaya Tha Qayamat Ka Pehar Phir Yeh Hua,
Intezaron Mein Hi Main Marta Raha Raat Bhar Tanha.

नहीं आया था कयामत का पहर फिर ये हुआ,
इंतजारों में ही मैं मरता रहा रातभर तन्हा।

Alone shayari - जख्म

Apni Soorat Pe Lagata Raha Main Ishtehar-e-Zakhm,
Jisko Parh Ke Chaand Jalta Raha Raat Bhar Tanha.

अपनी सूरत पे लगाता रहा मैं इश्तहारे-जख्म,
जिसको पढ़के चांद जलता रहा रातभर तन्हा।

Alone shayari - खामोश कर दो

Meri Tanhai Maar Dalegi De De Kar Taane MujhKo,
Ek Baar Aa Jaao Ise Tum Khamosh Kar Do.

मेरी तन्हाई मार डालेगी दे दे कर तानें मुझको,
एक बार आ जाओ इसे तुम खामोश कर दो।

Alone shayari - अकेले में

Zindagi Ki Raahon Par Kabhi Yun Bhi Hota Hai,
Jab Insaan Khud Ro Padta Hai Akele Mein.

जिंदगी की राहों पर कभी यूँ भी होता है,
जब इंसान खुद को पढ़ता है अकेले में।

Alone shayari - तेरे साथ

Hua Hai Tujhse Bichhadne Ke Baad Yeh Maloom,
Ke Tu Nahi Tha Tere Sath Ek Duniya Thi.

हुआ है तुझसे बिछड़ने के बाद ये मालूम,
कि तू नहीं था तेरे साथ एक दुनिया थी।

Alone shayari - होश है

Bas Itna Hosh Hai Mujhe Roj-e-Vida-e-Dost,
Veerana Tha Najar Mein Jahan Tak Najar Gayi.

बस इतना होश है मुझे रोज-ए-विदा-ए-दोस्त,
वीराना था नजर में जहाँ तक नजर गयी।

Alone shayari - सारी उम्र

Waqt Toh Do Hi Kathhin Gujre Hain Saari Umr Mein,
Ik Tere Aane Se Pehle Ik Tere Jaane Ke Baad.

वक़्त तो दो ही कठिन गुजरे है सारी उम्र में,
इक तेरे आने के पहले इक तेरे जाने के बाद।

Alone shayari - हसीं लगते हैं।

Tere Jalwon Ne Mujhe Gher Liya Hai Ai Dost,
Ab Tanhayi Ke Lamhe Bhi Haseen Lagte Hain.

तेरे जल्वों ने मुझे घेर लिया है ऐ दोस्त,
अब तो तन्हाई के लम्हे भी हसीं लगते हैं।

Alone shayari - वही तन्हाई

Sau Baar Chaman Mehka Sau Baar Bahaar Aayi,
Duniya Ki Wohi Raunak Dil Ki Wohi Tanhai.

सौ बार चमन महका सौ बार बहार आई,
दुनिया की वही रौनक दिल की वही तन्हाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *