1 comment on “Hindi suvichar”

Hindi suvichar

जान तक देने की बात होती है यहाँ,
पर यकीन मानिये दुआ तक
दिल से नही देते हैं लोग।।

Advertisements

Hindi suvichar

पवित्र बनने के लिए खुद पाप छोड़ने भी जरूरी है।
दुसरो के पाप गिनने से हम पवित्र नही हो जाते ।।